Live : modi’s rally in gorakhpur

News in Hindi: गोरखपुर। भाजपा की विजय संकल्प रैली को संबोधित करने के लिए भाजपा के पीएम प्रत्याशी नरेंद्र मोदी पार्टी मंच पर पहुंच चुके हैं। मंच पर उनके साथ पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह, अमित शाह और योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं। योगी सहित सभी बड़े नेताओं ने नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, अमित शाह को माला पहनाकर सम्मानित किया। योगी ने राजनाथ को गदा, लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने मोदी को तीर-धनुष भेंट किया।

इससे पहले मोदी अध्यक्ष राजनाथ सिंह के साथ गुरुवार दोपहर यहां पहुंचे। दोनों नेताओं ने सबसे पहले मंदिर पहुंचकर बाबा गोरखनाथ का दर्शन किया। पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह सबसे पहले 12:30 बजे महाराणा प्रताप पालिटेक्निक कालेज में बनाए गए हेलीपैड पर हेलीकाप्टर से उतरे। मौके पर गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रो. यूपी सिंह और डॉ. वाईपी सिंह ने दोनों का स्वागत किया। इसके बाद सभी लोग कार में बैठकर गोरखनाथ मंदिर के लिए रवाना हो गए। कॉलेज से निकलने पर उमड़ी भीड़ जहां मोदी के समर्थन में नारेबाजी कर रही थी, वहीं उन्होंने कार से ही हाथ हिलाकर सभी का अभिवादन किया। मोदी का काफिला 12.59 मिनट पर गोरखनाथ मंदिर पहुंचा और सभी ने गोरखनाथ बाबा का दर्शन किया। उसके बाद सभी लोगों ने महंत अवैद्यनाथ से मुलाकात की।

शहर से करीब आठ किलोमीटर दूर स्थित मानबेला मैदान में मोदी पूर्वाचल के पिछड़ेपन को लेकर केंद्र व राज्य सरकारों पर निशाने साधते हुए विकास का विजन भी प्रस्तुत करेंगे।

सांसद योगी आदित्यनाथ के गढ़ में भाजपा मजबूत रही है। रैली के लिए 13 संसदीय क्षेत्रों से भारी भीड़ जुटाई गई है। रैली के सिलसिले में प्रशासन ने कड़े सुरक्षा इंतजाम किए हैं। पूरे जोन से पुलिस अधिकारियों और जवानों को गोरखपुर भेजा गया है।

रैली स्थल पर चाकू लेकर आए दो संदिग्ध गिरफ्तार

गोरखपुर में होने वाली नरेंद्र मोदी की विजय शंखनाद रैली के सुरक्षा इंतजाम के बीच गुरुवार सुबह दो संदिग्ध लोगों के पास से चाकू बरामद किया गया है। यह दोनों मोदी के सभास्थल पर प्रवेश करने की कोशिश कर रहे थे। पुिलस इन्हें गिरफ्तार कर पूछतांछ कर रही है। ध्यान रहे कि मोदी की रैली के लिए शासन ने कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। गोरखपुर प्रशासन की मांग पर शासन ने गैर जिलों से चार एसपी समेत बडी संख्या में पुलिस बल उपलब्ध कराया गया है। तय रणनीति के अनुसार रैलीस्थल के चारों ओर सुरक्षा घेरा बना है। मंच के इर्द-गिर्द एटीएस की टीम विशेष निगरानी करेगी। मोदी के गोरखनाथ मंदिर में लगभग 45 मिनट रुकने के कार्यक्रम के मद्देनजर मंदिर परिसर में अलग से सुरक्षा इंतजाम किया गया है।

पूर्वाचल की इन 13 सीटों पर हैं निगाह

गोरखपुर, बांसगांव, देवरिया, सलेमपुर, पड़रौना, महराजगंज, डुमरियागंज, बस्ती, संतकबीरनगर, मऊ, घोसी, लालगंज एवं बलिया। गोरखपुर के करीबी जिलों की ये लोक सभा सीटें काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही हैं। जिसकी वजह से रैली महत्ता बढ़ गई है।

पूर्वाचल के दर्द को चाहिए आवाज

पूर्वाचल का गोरखपुर क्षेत्र सियासी दलों के लिए भले ही उर्बरा हो लेकिन यहां का दर्द सरकारों की शीर्ष प्राथमिकता कभी नहीं बन पाया। चुनाव खत्म होते ही पूर्वाचल हासिए पर आ जाता है। पिछले पचीस साल से भी अधिक वक्त से महामारी का रूप ले चुकी इंसेफेलाइटिस अब तक 25 हजार मासूमों की जान ले चुकी है, लेकिन केंद्र और प्रदेश की सरकारों ने कभी इसे शीर्ष प्राथमिकता नहीं बनाया। जिन चीनी मिलों के भरोसे पूर्वाचल के इस बेल्ट में खुशहाली की इबारत लिखी जाती थी धीरे-धीरे उनमें से अधिकतर को बंद कर दिया गया। मुख्यमंत्री रहते बीरबहादुर सिंह ने रामगढ़ताल के जरिए गोरखपुर के समग्र विकास का सपना देखा था। इसकी शुरुआत भी कर दी थी, लेकिन उनके निधन के बाद लगे ग्रहण से यह ताल अब तक नहीं उबर सका है। भाजपा के प्रदेश महामंत्री पंकज सिंह कहते हैं कि भाजपा ने अपने शासनकाल में पूर्वाचल के विकास पर ध्यान केंद्रित किया था। सरकार जाने के बाद भी पार्टी यहां के मुद्दे उठाती रही है। जनता भाजपा और मोदी के जरिए विकास का सपना देख रही है। पार्टी इस सपने का पूरा करेगी।

Source-  Hindi News

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s